धनवान-व्यक्ति-और-लाजर-की-कहानी

Best Preaching the Gospel in Hindi | धनवान व्यक्ति और लाजर की कहानी बाइबल में

Spread the Gospel

धनवान व्यक्ति और लाजर की कहानी | बाइबल में धनी व्यक्ति की कहानी | hindi Gospel preaching

बाइबल में धनवान व्यक्ति और लाजर की कहानी

धनवान-व्यक्ति-और-लाजर-की-कहानी
Image by Jeroným Pelikovský from Pixabay धनवान-व्यक्ति-और-लाजर-की-कहानी

बाइबल की कहानी सुनाओ

आज हम धनी व्यक्ति और लाजर की कहानी सुनने और पढ़ने जा रहे हैं. प्रभु यीशु के द्वारा सुनाई गई कहानियों में सबसे बेहतरीन कहानियों में यह एक कहानी है.

प्रभु यीशु जब भी अपना उपदेश देते थे वे लोगों को स्वर्ग की बातें मनुष्यों को समझाने के लिए छोटी कहानी का सहारा लेते थे. वे कहानी न केवल सरल होती थी बल्कि सारगर्भित भी होती थीं.

धनवान व्यक्ति और लाजर की कहानी पवित्र बाइबल में लूका रचित सुसमाचार के 16:19-31 में पाई जाती है. कहानी में एक धनी व्यक्ति था जिसका नाम नहीं दिया गया.

लेकिन उसकी विशेषता बताई गई कि वह धनवान था, बैंजनी रंग के और मलमल के कपड़े पहनता था और रोज धूम-धाम से रहता था.

उसके उस बड़े घर के बाहर डेवड़ी में मतलब फाटक के पास एक कंगाल व्यक्ति भी बैठा करता था जिसका नाम लाजर था. उसकी हालत दयनीय थी, क्योंकि उसके शरीर में जगह जगह घाव थे. और कुत्ते भी उसके घाव को चाट जाते थे.

ऐसा बहुत समय तक चलता रहा और दोनों की मृत्यु हुई…लेकिन उनकी मृत्यु के तुरंत पश्चात हम बाइबल में देखते हैं, लाजर तो बड़ी शान्ति की जगह स्वर्गदूतों के द्वारा पहुंचाया गया लेकिन वह धनवान अधोलोक की अग्नि ज्वाला में तड़प रहा है.

यहाँ तक कि वह पुकारता है कि पिता अब्राहम मुझ पर दया करके लाजर को भेज दे, ताकि वह अपनी उंगली का सिरा पानी में भिगोकर मेरी जीभ को ठंडी कर, क्योंकि मैं इस ज्वाला में तड़प रहा हूँ.

परन्तु अब्राहम ने कहा, हे पुत्र, स्मरण कर कि तू अपने जीवन में अच्छी वस्तुएं ले चूका है, और वैसे ही लाजर बुरी वस्तुएं ले चूका है, और वैसे ही लाजर बुरी वस्तुएं. परन्तु अब वह यहाँ शान्ति पा रहा है.

धनवान व्यक्ति नरक क्यों गया ?

हम नरक और स्वर्ग के विषय में यीशु मसीह के द्वारा ही जान पाते हैं. इसका मतलब है नरक और स्वर्ग वास्तविक है. सवाल यह है कि इस धनवान ने ऐसा क्या किया कि उसे नरक में डाला गया.

उसकी क्या गलती थी, कि नरक की उस न बुझने वाली आग में जल रहा है. ऐसा हम क्या न करें कि हम भी उस आग में न जाने पाएं. आइये इस बाइबल पद से जानते हैं.

वचन 19. :- क्या अधिक धन के कारण धनवान वह नरक में गया ? उत्तर है नहीं...बिलकुल नहीं धन तो परमेश्वर की आशीष के कारण मिलता है. (नीतिवचन 10:22)

परमेश्वर धन कमाने की सामर्थ देता है. (1 इतिहास 29:12) इसका मतलब है धनवान होना कोई गुनाह या पाप नहीं है. परमेश्वर ने अपने अनेकों दासों को बहुत से धन से आशीषित किया था.

जैसे अब्राहम, सुलेमान, दाऊद आदि. तो फिर और क्या कारण हो सकता है.

वचन 19b :- वह धनवान व्यक्ति बैंजनी कपड़े और मलमल पहिनता था. तो क्या अच्छे कपड़े या किसी विशेष रंग के कपड़े पहनने के कारण कोई व्यक्ति नरक में डाला जा सकता है. उत्तर है नहीं.

राजा सुलेमान और उसके नौकर चाकर सभी बढ़िया से बढ़िया कपड़े पहना करते थे. ऐसा सीबा रानी ने बताया (1 राजा 10:5) इसका मतलब है अच्छे कपड़े पहनना किसी भी रीती से पाप नहीं हैं और न ही किसी कपड़े के कारण कोई नरक जाता है.

वचन 19c :- धनवान व्यक्ति धूमधाम से रहता है :– धूम धाम से रहने का मतलब होता है बिंदास रहना या अपने में मस्त रहना क्या यह कोई पाप है. या धूम धाम से रहने से कोई व्यक्ति नरक में डाला जा सकता है. उत्तर है नहीं.

परमेश्वर हमें बहुतायत का जीवन देने आया वो चाहता है हम सभी फूलें फलें और पृथ्वी में भर जाएं तो फिर कोई व्यक्ति धूम धाम से रहता है तो नरक में कैसे जा सकता है. अर्थात धूमधाम से रहने से भी कोई नरक नहीं जाता.

वचन 19d :- धनवान व्यक्ति प्रतिदिन सुख विलास से रहता था. :- सवाल है क्या सुख विलास से रहना मतलब अच्छा भोजन खाना और अच्छे घर में रहना कोई पाप है जिससे कोई व्यक्ति नरक जा सकता है? उत्तर है नहीं.

परमेश्वर हमारा चरवाहा है वो हमें सुखदाई झरने के पास ले कर जाता है जहाँ सुख ही सुख है. मतलब सुखविलास से रहना भी नरक नहीं ले जाता.

फिर धनवान व्यक्ति ने ऐसा कौन सा पाप किया था कि उसे नरक जाना पड़ा?

इस धनवान व्यक्ति के जीवन में सारे सुख विलास थे. पुराने नियम, व्यवस्था और भविष्यवक्ताओं की बातें भी थीं लेकिन इसने यीशु को कभी नहीं माना. दुनिया में एकमात्र पाप ऐसा है जिसके कारण मनुष्य नरक की आग में जा सकता है वह है यीशु मसीह का इनकार करना.

क्योंकि यीशु ने कहा, "मैं ही मार्ग, सत्य और जीवन हूँ. बिना मेरे कोई पिता के पास नहीं  पहुँच सकता."
(यूहन्ना 14:6) 

हमारे देश में प्रतिदिन 27 हजार लोग बिना यीशु मसीह को जाने मर जाते हैं. एक सप्ताह में एक लाख से ज्यादा लोग प्रभु यीशु को बिना जाने मरते है.

आज मनुष्य वैसे ही तीव्र गति से नरक में जा रहा है जैसे कोई व्यक्ति पैराशूट पहनकर हवाई जहाज से कूदे और अत्यंत तेजी से जमीन की ओर गिरेगा…

बस गिरते ही जा रहा है लेकिन उसके पास एक विकल्प है बचने का यदि वो अपने पैरासूट का वो बटन दबा दे जिसे दबाते ही पैराशूट खुल जाएगा. और वो मरने से बच सकता है.

फिर वह उस पैराशूट की सहायता से उड़ेगा. यह पूरी रीति से केवल उसी पर निर्भर है कि वह उसके पीठ पर बंधे पैराशूट को खोल ले.

उसी रीति से आज भी यह पूरी रीति से हम पर निर्भर है कि हम यीशु मसीह पर विश्वास करें तो बच सकते हैं. और वह बटन हैं… रोमियो 10:13

 "जो कोई प्रभु यीशु का नाम लेगा, वह उद्धार पाएगा" रोमियो  10:13 

Sermon illustration in hindi :-

परमेश्वर के एक महान दास रिन्हार्ड बोनके के पास एक व्यक्ति आया और कहने लगा मैं प्रभु यीशु को अपना उद्धारकर्ता करके तब मानूंगा जब आप मुझे मेरे 1000 सवालों का जवाब दे दोगे.

परमेश्वर के दास ने कहा ये सवालों के जवाब आपने किस किस व्यक्ति से पूछा है.

उसने कहा, हर वो व्यक्ति जो मेरे शहर में सुसमाचार सुनाने आता है. मैं उससे इन सवालों के जवाब देने को कहता हूँ.

तब परमेश्वर के दास ने उसे कहा, कल्पना करो आप समुद्र के बीचोंबीच पानी में डूब रहे हो. और वहां मैं हैलीकाप्टर में आता हूँ और आपको बचाने के लिए एक लाइफजैकेट देता हूँ.

और कहता हूँ इसे पकड़ लो और तुम बच जाओगे. यदि तुम उस समय भी यही कहो कि नहीं मैं यह नहीं पकडूँगा जब तक तुम मुझे मेरे एक हजार सवालों के जवाब नहीं दोगे मैं इस लाइफजैकेट को नहीं लूँगा.

तो मैं बताता हूँ तुम उन 1000 सवालों के साथ बुद्धिमान नहीं बल्कि मुर्ख हो. तुम्हें उस समय केवल जीवन बचाने की जरूरत है न कि अपने सवालों में उलझने की.

बिलकुल उसी तरह आज भी अनेकों लोग अपने सवालों के साथ अपने आप को बुद्धिमान समझते हैं जबकि आज जरूरत है स्वयं को बचाने की.

यदि आप ये लेख पढ़ रहें हैं और आपसे पवित्र आत्मा बातें कर रहा है. और आपको पूर्ण निश्चय नहीं है कि आज की रात यदि आपको परमेश्वर बुला ले तो आप कहाँ होंगे….?

और यदि आप प्रभु यीशु पर विश्वास करना चाहते हैं तो मैं आपसे कहूँगा आप नीचे दी गई प्रार्थना को दोहरा सकते हैं.

धनवान-व्यक्ति-और-लाजर-की-कहानी
Image by Sabine Zierer from Pixabay धनवान-व्यक्ति-और-लाजर-की-कहानी

उद्धार पाने के लिए प्रार्थना :-

प्रभु यीशु मैं अपने पापों को अंगीकार करता हूँ. आप मेरे पापों को क्षमा कीजिए.
 मैं आपको अपना उद्धारकर्ता मान कर अपने जीवन में ग्रहण करता हूँ. 
आप मेरे जीवन में अनुग्रह कीजिये और मेरी सहायता कीजिये कि 
अब पापों को छोड़कर एक अच्छा जीवन जी सकूँ. 
मैं प्रभु यीशु के नाम से यह प्रार्थना करता हूँ.
 आमेन 

इस सरल प्रार्थना को यदि आपने सच्चे दिल से की है, तो आज से ही आपको परमेश्वर अपनी सन्तान होने का अधिकार देते हैं. आप अब से पापों को न और यीशु मसीह को हाँ कहना प्रारंभ कीजिए… प्रभु आपको बहुत आशीष दे.

धनवान व्यक्ति और लाजर की कहानी हमें बड़ी सीख देती हैं यदि सुसमाचार की यह कहानी मतलब धनवान व्यक्ति और लाजर की कहानी से आपको आशीष मिली है तो इसे अपने उस मित्रों को भी सेंड कर सकते हैं जिसे इसकी आवश्यकता है. धन्यवाद

<< Previous Article << जानिये हमेशा खुश रहने के रहस्य

Related Post

नए साल 2023 के लिए लक्ष्य कैसे बनाएं

पढ़ें क्रिसमस की अद्भुत कहानी

प्रभु यीशु मसीह के द्वारा सुनाई गई बेहतरीन कहानी

पवित्र आत्मा के फल क्या हैं

परमेश्वर का मित्र कौन बन सकता है

बाइबल के बेहतरीन 10 लघु संदेश

मानवजाति के लिए परमेश्वर के 5 अद्भुत वायदे

1616136075751 कलीसिया का अर्थ, कलीसिया का उद्देश्य, कलीसिया का क्या उद्देश्य हैं, कलीसिया का क्या मतलब है, कलीसिया का संक्षिप्त इतिहास, कलीसिया के 6 नियम, कलीसिया कैसे रोपण करें, कलीसिया क्या है, कलीसिया में मेरा योगदान, कलीसिया स्थापना क्या है?, कलीसिया-कैसे-प्रारंभ-करें, नए स्थान में कलीसिया कैसे स्थापित करें, मसीही कलीसिया, हिंदी बाइबल स्टडी नोट्स
पास्टर राजेश बावरिया (एक प्रेरक मसीही प्रचारक और बाइबल शिक्षक हैं)
rajeshkumarbavaria@gmail.com

Spread the Gospel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Scroll to Top