किसी-से-तुलना-मत-करो

किसी से तुलना मत करो | Stop comparing yourself to others

Spread the Gospel

दोस्तों आज हम बात करेंगे कि किसी से तुलना मत करो | Stop comparing yourself to others मतलब अपनी तुलना दूसरों से मत करो.

किसी से तुलना मत करो | Stop comparing yourself to others

किसी-से-तुलना-मत-करो
किसी-से-तुलना-मत-करो Image by John Hain from Pixabay

भजन संहिता 73

जीवन में कभी भी किसी से अपनी तुलना मत कीजिए आप जैसे है सर्वश्रेष्ठ है.

भजन संहिता में भजनकार आसाप भजन संहिता 73 में कहता है जब मैं दुष्टों का कुशल होते देखता था तो मेरे तो डग उखड़ने लगे थे. मतलब मेरा विश्वास डगमगाने लगा.

और आसाप सोचने लगा अंहकारी और बुरे लोग फलते फूलते हैं और अंधेर की बाते बोलते फिरते हैं तो फिर अपने आप को पवित्र बनाने का क्या फायदा.

लेकिन जब वह परमेश्वर की ओर मन लगाता है तब उसे पता चलता है कि अंत में दुष्ट तो नाश हो जाते हैं लेकिन जो यहोवा का भय मानते हैं उनका भला होता है.

हमें भी अनेक बार दूसरों की थाली का बरा ज्यादा बड़ा दिखाई देता है. मतलब हम हम अपनी तुलना लोगों के साथ करने लगते हैं तो हमें लगता है हम कितने पिछड़ गए हैं.

जब हम सोसल मिडिया मतलब इन्स्ताग्राम और फेसबुक में लोगों की फोटो और स्टेटस लगातार देखते हैं तो हमें लगता है देखो लोग कितने खुश हैं कितने बढ़िया उनको लाइक मिलते हैं.

वे लोग कहाँ कहाँ घूम रहे हैं लेकिन एक हम हैं कि वहीँ के वहीँ हैं हम तो कुछ उन्नति कर ही नहीं रहें. और इस रीत से हम भी निराशा में चले जाते हैं.

डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं. और याद रखें शैतान का सबसे घातक हथियार है निराशा, डिप्रेशन. प्रभु हमें अपना उद्धार का आनन्द देता है जबकि शैतान हमें निराशा के दलदल में गिराता है.

तुलना मत करो

एक कहावत है कि “हमें हमेशा दूसरे के गार्डन में घास ज्यादा हरी दिखाई देती है”. हम अपने बच्चों को यह कहकर टीस दिलाते हैं…

देखो सामने शर्मा जी का बच्चा या वर्मा जी का बच्चा कितना बढ़िया नंबर लाता है या कितना बढ़िया दौड़ता भागता है.

ऐसा बोलकर हम अपने बच्चे का ही मनोबल गिराते हैं. देखिये आपका बच्चा परमेश्वर से प्रार्थना करने वाला बच्चा है.

हर बच्चे को परमेश्वर ने अलग रीती से आशीषित किया है. हो सकता है वह किसी और चीज में बढ़िया हो जो आप देख नहीं पा रहे हैं.

सचिन तेंदुलकर क्रिकेट में अच्छा था लेकिन वो पढने में अच्छा नहीं था. मेरे कहने का मतलब है आप अपने बच्चे के अच्छाई पर ध्यान देना चाहिए.

न कि उसकी कमजोरी पर उसकी तुलना किसी से भी मत कीजिए. लेकिन उसे प्रोत्साहित अवश्य कीजिए वो भी सकारात्मक रूप से.

जिस प्रकार हम मछली को इसलिए ताना नहीं दे सकते कि वह बन्दर की तरह पेड़ में नहीं चढ़ सकती है और हर बार पेड़ में चढ़ने में असफल रहती है

या उसी प्रकार बंदर को इसलिए फेल नहीं कर सकते कि वो हवा में पक्षियों के समान उड़ नहीं सकता. इस प्रकार की तुलना करना तो मूर्खता होगी.

उसी प्रकार आपको भी नहीं पता जिस बच्चे के साथ आप अपने बच्चे की तुलना कर रहे हैं वो एक दिन कैसा निकलेगा

हो सकता है आपका बच्चा एक बहुत बड़ी कम्पनी का मालिक हो और वो दूसरा बच्चा वहां का एक एम्प्लोई (वर्कर) बने.

हमारे पास जो है उसमें हमें संतुष्ट रहना चाहिए और उसके लिए परमेश्वर का धन्यवाद करना चाहिए. फिर चाहे हमारा घर हो वस्तु हो या हमारा रूप रंग.

क्योंकि हो सकता है जो हमारे पास है और जैसा जीवन हम जीते हैं वैसा जीवन जीने के लाखों लोग तमन्ना करते हैं.

बहुत से लोग उतने सौभाग्शाली नहीं है कई लोगों के पास तो कुछ भी नहीं है. कई लोग अस्पताल में अपनी अंतिम साँसे गिन रहे हैं और उन्हें देखने वाला कोई नहीं.

तुलना पर बाइबिल का एक उदाहरण

बाइबिल में एक राजा हुआ जिसका नाम था आहाब और उसकी पत्नी भी दुष्ट थी जिसका नाम था ईजेबेल

राजा के महल के पास नाबोत नामक एक व्यक्ति की दाख की बारी थी जिसे वह बहुत प्यार करता, और देखभाल करता था.

उसे बड़ा सजा कर भी भी रखता होगा क्योंकि अहाब का मन उस दाख की बारी में आ गया. और उसने उस दाख की बारी को हथियाना चाहा.

देखिये अहाब तो एक राजा था पूरा का पूरा देश उसका था उसके पास कितनी अधिक भूमि होगी. लेकिन उसे दूसरे की खेती में मन था.

और उसे पाने के लिए उसकी पत्नी और उसने बहुत ही बुरी योजना बनाई कि किसी भी रीति से उस दाख की बारी के मालिक अर्थात नाबोत की हत्या करवा दी जाए.

राजा को देश के लोगों के हित की बात सोचनी चाहिए लेकिन यहाँ देखिये तुलना करने के कारण और लालच उसके मन में भर गया

और लालच के कारण उसने पाप कर बैठा और एक दिन उस निर्दोष व्यक्ति नाबोत को झूठा आरोप लगवाकर राजा और रानी ने मरवा डाला.

यह बात परमेश्वर को अच्छी नहीं लगी और इस कारण उस राजा और रानी के ऊपर शाप आया

और परमेश्वर ने अपने दास भविष्यवक्ता एलिशा से कहलवा भेजा जिस स्थान में नाबोत को मारा गया वहीं तुम्हारा भी लहू कुत्ते चाटेंगे.

निष्कर्ष | conclusion

बाइबिल कहती है हमें तुलना नहीं करना चाहिए लालच नहीं करना चाहिए बल्कि जो कुछ हमारे पास है उसी में संतुष्ट रहना चाहिए.

विश्वास करते हैं यह लेख कि बाइबल से प्रचार कैसे करें | How to Preach Sermon पढ़कर आपको अच्छा लगा होगा कृपया कमेन्ट करके अवश्य बताएं आप हमारे हिंदी बाइबिल स्टडी app को गूगल प्ले स्टोर से डाउन लोड आप इस लिंक से उस लेख को पढ़ सकते हैं.. हमारे इन्स्ताग्राम को भी फोलो कर सकते हैं… और पॉडकास्ट को सुन सकते हैं

इन्हें भी पढ़े

छोटे बच्चे की मजेदार कहानी

मजेदार कहानियां

चार मजेदार कहानियां

Short Funny Story

सास बहु की मजेदार कहानी

जीवन में दुःख और सुख दोनों जरूरी हैं

हिंदी सरमन आउटलाइन

यीशु की प्रार्थना

पवित्र बाइबिल नया नियम का इतिहास

31 शोर्ट पावरफुल सरमन

यीशु कौन है

कभी हिम्मत न हारें

हम कैसे विश्वास को बढ़ा सकते हैं

प्रार्थना के 20 फायदे

प्रतिदिन बाइबल पढ़ने के 25 फायदे

प्रकाशितवाक्य की शिक्षा

Related Post

प्रभु यीशु मसीह के द्वारा सुनाई गई बेहतरीन कहानी

पवित्र आत्मा के फल क्या हैं

परमेश्वर का मित्र कौन बन सकता है

बाइबल के बेहतरीन 10 लघु संदेश

मानवजाति के लिए परमेश्वर के 5 अद्भुत वायदे

किसी-से-तुलना-मत-करो
किसी-से-तुलना-मत-करो  पास्टर राजेश बावरिया (एक प्रेरक मसीही प्रचारक और बाइबल शिक्षक हैं)

Spread the Gospel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Scroll to Top