परमेश्वर-की-प्रतिज्ञाएं

परमेश्वर की प्रतिज्ञाएं | Promises of God in the bible in Hindi

Spread the Gospel

दोस्तों आज हम बातें करेंगे परमेश्वर के वायदों के विषय में अर्थात परमेश्वर की प्रतिज्ञाएं | Promises of God in the bible in Hindi तो आइये शुरू करते हैं कि परमेश्वर के वायदे कैसे प्राप्त करें.

परमेश्वर की प्रतिज्ञाएं | Promises of God in the bible in Hindi

परमेश्वर-की-प्रतिज्ञाएं
Image by bess.hamiti@gmail.com from Pixabay परमेश्वर-की-प्रतिज्ञाएं

परमेश्वर की प्रतिज्ञाएं कभी नहीं बदलती एवं उनका उपयोग करना पूरी तरह से हम पर निर्भर है. परमेश्वर की प्रतिज्ञाएं हम चार प्रकार से प्राप्त कर सकते हैं जो निम्न प्रकार से हैं.

विश्वास के द्वारा : उन का अनुकरण करो, जो विश्वास और धीरज के द्वारा प्रतिज्ञाओं के वारिस होते हैं. (इब्रानियों 6:12) विश्वास के द्वारा ही हम को बड़ी बड़ी प्रतिज्ञाएं प्राप्त होती हैं.

धीरज धरने के द्वारा: जिस प्रकार धीरज रखने के बाद ही अब्राहम ने प्रतिज्ञा की बात पारपत की. जब आप परमेश्वर की इच्छा पूरी करते हैं, तो आप उन सब बातों को प्राप्त करेंगे जिनकी उसने प्रतिज्ञा किया है . (इब्रानियों 10:36)

आज्ञापालन के द्वारा : यदि तू अपने परमेश्वर यहोवा की आज्ञाओं को मानते हुए उसके मार्थों पर चले, तो वह अपनी शपथ के अनुसार तुझे अपनी पवित्र प्रजा करके स्थिर रखेगा. (व्यव. 28:9)

ठान लेने के द्वारा : इस बात का पूरा निश्चय रखना कि जो कुछ परमेश्वर ने प्रतिज्ञा किया है उसे पूरा करने के लिए उसके पास सामर्थ है. (रोमियो 4:21)

परमेश्वर की प्रतिज्ञाओं की विशेषताएं

परमेश्वर की प्रत्येक प्रतिज्ञा को एक विशेष उद्देश्य होता है. ये सभी प्रतिज्ञाएं महान और बहुमूल्य हैं. हमें बहुमूल्य और बहुत ही बड़ी प्रतिज्ञाएं दी हैं. ताकि उनके द्वारा आप ईश्वरीय स्वभाव में सहभागी हो सकें. (2 पतरस 1:4)

यह शपथ के साथ पक्की हैं. उसने जो प्रतिज्ञा किया उसे शपथ द्वारा पक्का किया. (इब्रानियों 6:17) परमेश्वर की सभी प्रतिज्ञाएं मसीह यीशु में हाँ और आमेन के साथ हैं. (2 कुरु. 1:20)

उद्धारकर्ता मसीह यीशु : परमेश्वर ने अपनी प्रतिज्ञा के अनुसार इस्राएल के पास एक उद्धारकर्ता अर्थात यीशु को भेजा (प्रेरित 13:23) जिसकी प्रतीक्षा इस्राएल के लोग कई पीढ़ी से कर रहे थे. जो परमेश्वर ने अपने वचन के अनुसार उनके लिए पूरा किया. जो न केवल इस्राएल के लिए वरन सारी मानव जाति के लिए उद्धारकर्ता हुआ.

अनंत जीवन की प्रतिज्ञा : यह प्रतिज्ञा हरेक उस व्यक्ति के लिए है जो प्रभु यीशु को अपना उद्धारकर्ता करके ग्रहण करता है, परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम किया कि अपना एकलौता पुत्र दे दिया ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे वो नाश न हो बल्कि अनंत जीवन पाए. (यूहन्ना 3:16)

बहुतायत का जीवन : चोर केवल चोरी करने घात करने और नाश करने आता है लेकिन मैं आया ताकि तुम जीवन पापो बल्कि बहुतायत का जीवन पाओ. (यूहन्ना 10:10)

जीवन का मुकुट : जीवन का वह मुकुट पाएगा जिसकी प्रतिज्ञा प्रभु ने अपने प्रेम करने वालों से की है. (याकूब 1:12)

आत्मिक उन्नति : मेरी प्रार्थना है जैसे तू आत्मिक उन्नति कर रहा है वैसे ही सब बातों में उन्नति करता रहे और भला चंगा रहे. (3 यूहन्ना 1:2)

आत्मिक अगुवाई : क्योंकि वह परमेश्वर सदा सर्वदा हमारा परमेश्वर है, वह मृत्यु तक हमारी अगुवाई करेगा. (भजन 48:14)

संकट से छुटकारा : संकट के दिन मुझे पुकार; मैं तुझे छुड़ाऊंगा, और तू मेरी महिमा करने पाएगा. (भजन 50:15)

टेंसन बोझ से मुक्ति : अपना बोझ यहोवा पर डाल दे वह तुझे सम्भालेगा; वह धर्मी को कभी टलने न देगा. (भजन 55:22)

कमी घटी की पूर्ति : मेरा परमेश्वर भी अपने उस धन के अनुसार जो महिमा सहित मसीह यीशु में है तुम्हारी हर एक घटी को पूरी करेगा. (फिलिप्पियों 4;19)

विश्वास करते हैं यह लेख कि परमेश्वर की प्रतिज्ञाएं | Promises of God in the bible in Hindi  पढ़कर आपको अच्छा लगा होगा कृपया कमेन्ट करके अवश्य बताएं आप हमारे हिंदी बाइबिल स्टडी app को गूगल प्ले स्टोर से डाउन लोड आप इस लिंक से उस लेख को पढ़ सकते हैं.. हमारे इन्स्ताग्राम को भी फोलो कर सकते हैं… और पॉडकास्ट को सुन सकते हैं

इन्हें भी पढ़े

छोटे बच्चे की मजेदार कहानी

मजेदार कहानियां

चार मजेदार कहानियां

Short Funny Story

सास बहु की मजेदार कहानी

जीवन में दुःख और सुख दोनों जरूरी हैं

हिंदी सरमन आउटलाइन

यीशु की प्रार्थना

पवित्र बाइबिल नया नियम का इतिहास

31 शोर्ट पावरफुल सरमन

यीशु कौन है

कभी हिम्मत न हारें

हम कैसे विश्वास को बढ़ा सकते हैं

प्रार्थना के 20 फायदे

परमेश्वर-की-प्रतिज्ञाएं
पास्टर राजेश बावरिया (एक प्रेरक मसीही प्रचारक और बाइबल शिक्षक हैं)
rajeshkumarbavaria@gmail.com


Spread the Gospel

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Scroll to Top